indian history ke pramukh nare aur isse related mahapurush pdf

Indian history ke pramukh nare aur isse related mahapurush - भारतीय इतिहास के प्रमुख नारे तथा इससे सम्बन्धित महापुरुष PDF download - GyAAnigk


तो कैसे हो आप सब लोग उम्मीद करता हूं ठीक ही होंगे,किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में लगभग 25 से 30% सामान्य ज्ञान(General Knowledge) और करंट अफेयर्स( Current Affairs) के प्रश्न होते हैं।

इसलिए, यदि आप एक ऐसे व्यक्ति हैं, जो देश भर के शीर्ष कॉलेजों में admission लेना चाहते हैं या सरकारी नौकरी की किसी भी परीक्षा में सफल होना चाहते हैं, तो आपके लिए करंट अफेयर्स( Current Affairs) और सामान्य ज्ञान(General Knowledge) विषयों की जानकारी रहना बहुत जरूरी है।




अगर आप एक भारतीय हैं तो आपने कभी ना कभी भारतीय महापुरुषों के नारे जरूर लगाएं होंगे या इन नारों को सुना होगा।


आज के इस पोस्ट indian history ke pramukh nare aur isase related mahapurush  में हम भारतीय महापुरुषों द्वारा दिए गए नारों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

आज के सवाल कुछ इस प्रकार होंगे 👇🏻👇🏻


  • इंकलाब जिंदाबाद और साम्राज्यवाद का नाश हो का नारा किसने दिया था?
  • कर मत दो का नारा किसने दिया था?
  • जय जवान जय किसान का नारा किसने दिया था?
  • सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है का नारा किसने दिया था?

इत्यादि इसी तरह के सवालों का जवाब मिलेगा तो इस पोस्ट को अंतिम तक जरूर पढ़े। और आप हमारे Site से PDF file फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।


भारतीय इतिहास के प्रमुख नारे तथा इससे सम्बन्धित महापुरुष PDF download



  • भगत सिंह - 1:-"इंकलाब जिंदाबाद नारे को मशहूर उर्दू शायर "मौलाना हसरत मोहनी" सन् 1921 में लिखा था और भगत सिंह ने इस नारे का उपयोग 1929 में किया था। 
  • 2:- "साम्राज्यवाद का नाश हो" का नारा भी भगत सिंह जी ने ही दिया है।
  • सुभाष चन्द्र बोस - 1:- "दिल्ली चलो" का नारा नेता जी ने 5 जुलाई 1943 को सिंगापुर के टाउन हाल के सामने 'सुप्रीम कमाण्डर' के रूप में सेना को सम्बोधित करते हुए "दिल्ली चलो!" का नारा दिया था।
  •  2:- "तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा" का नारा रंगून के जुबली हॉल में अपने ऐतिहासिक भाषण में नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने संबोधन के समय ही "तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आज़ादी दूंगा" का नारा दिया था।
  • आबिद हसन सफ़रानी -1:- "जय हिन्द" का नारा भारतीय क्रान्तिकारी "आबिद हसन सफ़रानी" द्वारा दिया गया था। इसका शाब्दिक अर्थ "भारत की विजय" है। 
  • महात्मा गांधी - 1:- "करो या मरो का नारा" महात्मा गांधी जी ने 8 अगस्त 1942 को दिया था। 
  • 2:-"भारत छोड़ो" का नारा भी महात्मा गांधी जी ने 8 अगस्त 1942 को दिया था। 
  • 3:- "हे राम" महात्मा गांधी जी के अंतिम शब्द थे।
  • पण्डित जवाहर लाल नेहरू - 1:- "व्हू लिव्स इफ इंडिया डाईस (who lives if India dies)" का नारा पंडित जवाहरलाल नेहरु जी ने दिया था। 
  • 2:- "आराम हराम है" का नारा आज़ाद भारत के सर्वप्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु जी ने स्वतंत्रता के संग्राम के दौरान दिया था। उनका मानना था की काम करने और मेहनत करने से जो फल मिलता है वही सबसे अच्छा होता है और मीठा होता है।
  • भारतेंदु हरिश्चंद्र -1:- "हिंदी, हिन्दू, हिंदुस्तान" ।
  • दयानंद सरस्वती -1:- "वेदों की और लौटे" का नारा आर्य समाज के संस्थापक, महर्षि स्वामी दयानन्द सरस्वती ने दिया था। इन्होंने ही 'सत्यार्थ प्रकाश' नामक पुस्तक की रचना की रचना भी की थी।
  • लाल बहादुर शास्त्री - 1:- "जय जवान जय किसान का नारा" सबसे पहले 1965 के भारत पाक युद्ध के दौरान भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री ने दिया था।
  • अटल बिहारी वाजपेई -1:- "जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान" का नारा 1998 में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई ने दिया था।
  • नरेंद्र दामोदरदास मोदी :- 1:- "जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान, जय अनुसंधान" का नारा भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री ने 3 जनवरी 2018 को दिया था।
  • मंगल पांडे -1:- "मारो फिरंगी को" का नारा मंगल पांडे ने दिया था। मारो फिरंगी को का नारा मंगल पांडे जी ने 1857 के विद्रोह की शुरुआत में दिया गया था।
  • विनोबा भावे - 1:- "जय जगत" का नारा विनोबा भावे जी ने दिया था ।
  • सरदार वल्लभ भाई पटेल -1:- "कर मत दो" का नारा सरदार पटेल व महात्मा गाँधी सहित अन्य लोगों ने किसानो का साथ दिया तथा पटेल ने “कर मत दो” का नारा दिया तथा अंतत: ब्रिटिश सरकार को यह मांग माननी पड़ी।
  • जयप्रकाश नारायण - 1:- "सम्पूर्ण क्रांति" का नारा जयप्रकाश नारायण जी ने सन् 1974 में दिया था।
  • श्याम लाल गुप्ता पार्षद - 1:- "विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा" यह कोई नारा बल्कि 'झंडा गीत' है जिसे सर्वप्रथम 19 फरवरी 1938 को प्रदर्शित किया गया था।
  • बकिमचंद्र चटर्जी - 1:- "वन्दे मातरम्"।
  • रविन्द्र नाथ टैगोर - 1:- "जन-गण-मन अधिनायक जय हे"।
  • राम प्रसाद बिस्मिल - 1:- "सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है" का नारा राम प्रसाद बिस्मिल ने गाया ज़रूर था, पर ये रचना बिस्मिल अज़ीमाबादी की है."।
  • बाल गंगाधर तिलक -1:- "स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा" का नारा लोकमान्य तिलक जी वर्ष 1916 में दिया था।
  • अल्लामा इक़बाल - 1:- सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा।
  • लाला लाजपत राय - 1:- "साइमन कमीशन वापस जाओ" का नारा 1927 में लाला लाजपत राय जी ने दिया था। इसके विरोध में हुए लाठी चार्ज में घायल होने पर उनकी मृत्यु सन् 17 नवंबर 1928 को हो गई थी। और 2:- मेरे सिर पर लाठी का एक-एक प्रहार, अंग्रेजी शासन के ताबूत की कील साबित होगा का नारा।
  • अब्दुल कलाम आजाद -1:- मुसलमान मूर्ख थे, जो उन्‍होंने सुरक्षा की मांग की और हिंदू उनसे भी मूर्ख थे, जो उन्‍होंने उस मांग को ठुकरा दिया।


अगर आपको भी इस विषय ( भारतीय इतिहास के प्रमुख नारे तथा इससे सम्बन्धित महापुरुष PDF download - GyAAnigk) के बारे में कुछ भी जानकारी है तो comment box में जरूर बताएं ताकि आपको जो जानकारी है वह सबको प्राप्त हो सके।

आप हमारा अंतिम पोस्ट [Hindi] IPL 2020 Schedule (UAE) - IPL 2020 Time Table & Match List -PDF भी पढ़ सकते हैं!


आज का सवाल आपके लिए 👇👇 
"विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा"का नारा किसने दिया था?
जवाब कॉमेंट बॉक्स में जरूर दें 🙏🙏



Also check these labels 👇🏻👇🏻


Download PDF file of भारतीय इतिहास के प्रमुख नारे तथा इससे सम्बन्धित महापुरुष PDF download - GyAAnigk👇🏻👇🏻




उम्मीद करता हूं कि आपको यह पोस्ट भारतीय इतिहास के प्रमुख नारे तथा इससे सम्बन्धित महापुरुष पढ़कर आपको भारतीय महापुरुषों द्वारा दिए गए उन नारो के बारे में जानकारी प्राप्त हो गई होगी जो भारतीयों में ऊर्जा का परवाह करते हैं।

तो नीचे में दिए गए Green WhatsApp बटन में क्लिक करके अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें because "SHARING IS CARING" 🥺 आपकी बड़ी मेहरबानी होगी 🙏🏻🙏🏻। और इस पोस्ट के नीचे एक प्यारा सा कमेंट करके जाएं धन्यवाद।

नोट :- अगर कुछ इसमें त्रुटि है तो जरूर बताएं ताकि हम उसे सुधार सकें धन्यवाद।

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां

  1. विजयी विश्व तिरंगा प्यारा झंडा ऊंचा रहे हमारा का नारा श्याम लाल गुप्ता पार्षद जी ने दिया था।🙏🏻🙏🏻 धन्यवाद सर यह पोस्ट ज्ञान से भरा हुआ है।

    जवाब देंहटाएं